मुस्लिम पोल डांसर आरिफा: समाज के समक्ष एक मिसाल।

79

कई बार ऐसे बहुत से लोगों के बारे में सुनने को मिलता है जिनकी कहानी से दूसरे लोगों को काफी इंस्पिरेशन मिलती है। जी हा! आज हम आपको एक ऐसी ही महिला से मिलवाने जा रहे है जो हम सभी के लिए एक प्रेरणा है। यह महिला है मुंबई की रहने वाली आरिफा भिंडरवाल एक प्रोफेशनल पोल डांसर है। सुन्न कर आपको थोड़ा अचम्भा ज़रूर हुआ होगा की एक पोल डांसर से किस तरह की इंस्पिरेशन मिल सकती है। लेकिन इस मुस्लिम महिला की कहानी जानने के बाद आप इनसे ज़रूर Inspire होंगे। मुस्लिम समुदाय से तालुख रखने के बावजूद भी आरिफा ने पोल डांस को चुनकर न केवल खुद को डिप्रेशन जैसी गंभीर समस्या से बाहर निकला बल्कि वर्तमान में वो समाज के समक्ष एक मिसाल बनकर उभरी है। और पोल डांस के प्रति लोगो का रवैया बदलकर इस मुकाम को हासिल किया है।
आरिफा का कहना है की मेरे लिए पोल डांस का मतलब दिल खोलकर उड़ना है। समाज में खराब माने वाला पोल डांस लड़कियों की आजादी का प्रतीक है। ये सभी लड़कियों को समाज के नजरिए से आजाद करता है। आरिफा के मुताबिक उनका शरीर ही उनका बेस्ट फ्रेंड है। और अगर उनकी मां का साथ नहीं होता तो वह कभी पोल डांसर नहीं बन पातीं। इतना ही नहीं आरिफा मुंबई में रहने वाली लड़कियों को भी पोल डांस सिखाती है।

1

2

3

4

5

Leave a Reply