बर्थडे स्पेशल: इंडियन स्पिनर अनिल कुंबले की पर्सनल लाइफ काफी इंटरेस्टिंग…

42

1

टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच और भारत की ओर से सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट (619) लेने वाले बॉलर अनिल कुंबले का आज मंगलवार (17 अक्टूबर) को 47वां बर्थडे हैं। 1970 में बेंगलुरू में कृष्णा स्वामी और सरोजा के घर जन्मे इस लेग स्पिनर के सम्मान में उनके शहर के एक चौराहे का नाम अनिल कुंबले सर्कल रखा। दुनिया में तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज, भारत के पूर्व कप्तान और बेहतरीन क्रिकेट करियर गुजारने वाले इस इंडियन बॉलर की पर्सनल लाइफ भी काफी इंटरेस्टिंग रही है।

2

कुंबले ने 2016 अपने फैंस के सवालों का जवाब देते हुए ट्विटर पर खुद इस राज से पर्दा उठाया था। तब कुंबले ने कहा था- ‘मेरे उपनाम (जंबो) की मुहर और कोई नहीं नवजोत सिंह सिद्धू ने लगाई। उस वक्त मैं ईरानी ट्रॉफी में दिल्ली के कोटला में रेस्ट ऑफ इंडिया की तरफ से खेल रहा था और सिद्धू मिड ऑन पर फील्डिंग कर रहे थे, मेरी कुछ गेंद अचानक उछल रही थी, जिसके बाद सिद्धू ने कहा ‘जंबो जेट’। बाद में जेट तो हट गया, लेकिन जंबो रह गया।

3

1990-2008 यानी 18 साल के टेस्ट करियर के दौरान कुंबले का विवादों से कोई नाता नहीं रहा। लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के तौर पर कप्तान विराट कोहली के साथ बहुचर्चित मतभेदों के बीच उन्हें इसी साल जून में इस्तीफा देना पड़ा। तब उन्होंने ट्वीट किया- ‘मुझे बताया गया कि कप्तान को मेरी कार्यशैली को लेकर परेशानी है।’ इस तरह उनके सफल कार्यकाल का कड़वा अंत हुआ।

4

भारतीय टीम ने अनिल कुंबले के कोच रहते कई मुकाम हासिल किए। भारतीय टीम ने 17 टेस्ट खेले जिसमें से 12 मैच टीम ने जीते और सिर्फ 1 में टीम की हार हुई। लेकिन अनिल कुंबले में कुछ खास बात थी जिसने उन्हें भारत का सबसे सफल गेंदबाज बनाया। वो थी उनकी फाइटिंग स्पिरिट। वेस्टइंडीज के खिलाफ 2002 के एंटिगा टेस्ट में अनिल कुंबले ने वो किया, जो उस वक्त शायद और कोई नहीं कर पाता।

5

उस टेस्ट में कुंबले के जबड़े में चोट लग गई थी। लेकिन फिर भी वे पट्टी बांधकर गेंदबाजी करने उतरे। उन्होंने 14 ओवर डाले, जिसमें उन्होंने ब्रायन लारा को एलबीडब्ल्यू आउट कर विकेट भी लिया। कुंबले टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में सभी 10 विकेट लेने वाले एकमात्र गेंदबाज है। उनके अलावा इंग्‍लैंड के जिम लेकर ही यह कारनामा कर पाए हैं।

6

टीम इंडिया के स्टार क्रिकेटर रहे अनिल कुंबले एक शादीशुदा महिला चेतना के प्यार के लिए काफी मशक्कत करना पड़ी। पहली शादी से चेतना को एक बच्ची (आरुणी) भी थी।  उन्होंने 1998 के जुलाई में चेतना से शादी कर ली। शादी के बाद अनिल और चेतना के दो बच्चे (बेटा मयस और बेटी स्वास्ति) और हुए। कुल मिलाकर इनके तीन बच्चे हैं।

7

Leave a Reply