दुखद हादसा: मुंबई के परेल-एलफिंस्टन रेलवे ब्रिज पर बड़ी भगदड़।

88

1

मुंबई के परेल-एलफिंस्टन रेलवे ब्रिज पर बड़ी भगदड़ मची है। इस भगदड़ में अब तक 27 लोगों की मौत हो गई। करीब 30 लोग गंभीर रुप से घायल हैं। घायलों को करीब के केईएम और दूसरे अस्पतालों में पहुंचाया गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है। ये भदगड़ ऐसे वक्त मची है जब ब्रिज पर काफी संख्या में लोग थे। इसिलए ये हादसा काफी बड़ा है। अब तक पूरी तरह से साफ नहीं है कि ये भगदड़ कैसे और क्यों मची, लेकिन जो शुरुआती जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक ब्रिज के एक शेड के गिरने की अफवाह फैली जिससे भगदड़ मची।

2

जब भदगड़ मची उस वक़्त सुबह का वक़्त था और भीड़ बहुत ज्यादा थी। ये घटना आज सुबह करीब 9.55 AM को घटी। जैसे ही भगदड़ मची, लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। अफरातफरी के आलम में लोग एक दूसरे पर चढ़ गए, कूदने लगे। लोगों के कूदने और भागने से बड़ी संख्या में लोग गंभीर रुप से जख्मी हो गए। इस अफरातफरी और भगदड़ में जख्मी होने से कई जानें चली गईं। एक चश्मदीद के मुताबिक, क्योंकि हादसा अचानक हुआ इसलिए कोई कुछ समझ नहीं पा रहा था। सिर्फ 10-15 मिनट में ही इतना बड़ा हादसा हो गया था। भगदड़ मचने के बाद काफी औरतें बेहोश हो गई थी।

3

दरअसल, जहां हादसा हुआ है वहां बारिश हो रही थी, पीक आवर भी था। बड़ी संख्या में लोग इस फुटओवर ब्रिज पर रुक गए और जमा होते गए, तभी ब्रिज की एक शेड के एक टुकड़ा गिरने की अफवाह फैली.. ऐसी अफरातफरी मची की कयामत जैसा समां हो गया। जान बचाने की इस दौड़ कई जानें हमेशा के लिए मौत की नींद सो गईं। इस हादसे के बाद चश्मदीदों का कहना है कि सारी ग़लती सरकार की है। एक चश्मदीद ने बताया कि ब्रिज काफी छोटा और संकरा है और सीढ़ियां काफी खराब है, जिसकी वजह से लोग फिसलते गए और इस तरह कई लोगों की जानें चली गई। और जैसे ही लोग फिसले, अफवाहें फैली, लोग नीचे उतरने की अपाधापी में एक दूसरे पर चढते चले गए और इस तरह ये दुखद हादसा में कई जाने चली गई।

4

आपको बता दें कि ये ब्रिज वेस्टर्न और इस्टर्न रेवले लाइन को जोड़ता था और इस ब्रिज पर काफी भीड़ रहती है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ”मुझे घटना का दुख है और जिन परिवार के लोगों की इस हादसे में मृत्यु हुई हैं उनके लिए मैं सांत्वना व्यक्त करता हूं। जो भी लोग घयाल हुए हैं वो जल्दी ठीक हों। पश्चिमी रेलवे के मुख्य सुरक्षा अधिकारी के जरिए हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। सभी परिवारों के लिए मुझे दुख है। इस प्रकार की घटनाएं ना हों इसके लिए हम प्रयास करेंगे और प्रतिबद्ध हैं।”

5

Leave a Reply