महीने की शुरुआत और अंत की मजेदार रियल्टी।

52

महीने भर मेहनत करने के बाद हमें सबसे ज्यादा खुशी देने वाला मैसेज होता है अकाउंट में सैलरी क्रैडिट होने का। ये मैसेज पढ़ते ही हम खुद को राजा समझने लगते हैं। शुरुअात के कुछ दिनों में लगता है मानो जिंदगी कितनी आसान है। इस वक्त हमारे अंदर पैसे खर्च करने की दिलेरी होती है। दोस्तों को बिना बोले ‘चलो मैं पार्टी देता हूं’ कहने का वो सुख भी हमें मिलता है। लेकिन जैसे-जैसे हम महीने के अंत की ओर पहुंचते हैं तो चीजें अचानक उलट जाती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं सैलरी मिलने के बाद महीने की शुरुआत और अंत की वो मजेदार रियल्टी जो आप जरूर महसूस करते होंगे।

महीने की शुरुआत में सबको पार्टी देने वाला आपका दिलदार दोस्त महीने के आखिर आपसे चाय पिलाने की गुहार लगाता है। ‘चाय पिलाएगा क्या?’ ये सवाल के साथ उसकी आंखों में पैसे खत्म होने का कष्ट साफ देखा जा सकता है। उसी कष्ट को महसूस करते हुए दूसरा दोस्त भी दबी जुबां से कहता है, ‘भाई मेरे पास भी 5 रुपए हैं, चाय तो छे की है’। फिर क्या दोनों दोस्त मन मारकर वापस काम पर लग जाते हैं और शुरू हो जाता है अगली सैलरी आने का इंतजार।

1-1

1-2

1-3

1-4

Leave a Reply