इंसान हर चीज से जीत सकता हैं पर मौत से नहीं।

3429

वो कहते हैं न, इंसान का जन्म होता है तो उसकी मौत भी तय होती है। और ये सभी को स्वीकार करना ही होता है। सबसे बड़ी बात तो ये है कि मौत कब कहां और कैसे आ जाए, कोई नहीं जानता। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे ही स्टार्स के बारे में जिन्होंने अचानक ही हमारा साथ छोड़ दिया।

 

संजीत बेदी : 

Sanjit-Bedi1

पॉपुलर टीवी शो ‘संजीवनी’ में ‘डॉ ओमी’ का रोल करने वाले एक्टर संजीत बेदी की मौत ने दर्शकों को हैरान कर दिया था।  संजीत मस्तिष्क की एक बीमारी से जूझ रहे थे जिसकी वजह से वह काफी समय से कोमा में थे। उनकी मौत मुंबई के एक अस्पताल में पिछले वर्ष 23 जून को हो गई थी। संजीत ‘कसौटी जिंदगी की’ से लेकर ‘क्या होगा निम्मो का’, ‘थोड़ी सी ज़मीं थोड़ा आसमां’ और ‘जाने क्या बात हुई’ जैसे हिट शो में काम कर चुके थे।

 

रसिका जोशी :

2

रसिका जोशी एक प्रख्यात मराठी और हिंदी फिल्म अभिनेत्री थीं। इन्होंने बहुत सारी हिन्दी फिल्मों में अपने अभिनय का जलवा बिखेरा था। इन्होंने भूलभूलैया, मालामाल वीकली और धूल जैसी कई हिट फिल्मों में भी काम किया था।

 

जोहरा सहगल :

1067737147_86997a2045

जानी-मानी अभिनेत्री और नृत्य निर्देशक जोहरा सहगल को सब जानते थे। भारतीय सिनेमा जगत में ‘लाडली’ के नाम से चर्चित जोहरा कई फिल्मों का हिस्सा रहीं। उन्होंने ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘दिल से’ और ‘चीनी कम’ जैसी चर्चित फिल्मों में अभिनय किया।  उन्होंने चेतन आनंद की फिल्म ‘नीचा नगर’ में भी काम किया था। वह ‘इंडियन पीपुल्स थिएटर एसोसिएशन’ की सदस्य थीं और वर्ष 1946 में अपनी पहली फिल्म प्रोडक्शन ‘धरती के लाल’ के जरिये रूपहले पर्दे पर पदार्पण किया था। साल 1935 में एक नृत्यांगना के तौर पर अपने करियर की शुरुआत करने वाली जोहरा को पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।

 

सुधा शिवपुरी :

sudha-story_650_052015105315

सुधा शिवपुरी लोकप्रिय टीवी शो ‘क्योंकि सास भी कभी बहु थी’ में ‘बा’ के किरदार में बखूबी काम किया और इसके बाद उनके फैन उन्हें इसी नाम से जानने लगे थे। वहीं इसके अलावा सुधा शिवपुरी ‘स्वामी’, ‘इंसाफ का तराजू’, ‘अलका’, ‘पिंजर’, ‘सावन को आने दो’, ‘द बर्निंग ट्रेन’ जैसी फिल्मों में भी नजर आई थीं।

 

सदाशिव अमरापुरकर :

ishq_110314101513

सदाशिव अमरापुरकर को गुणवान और बहुमुखी प्रतिभा से संपन्न अभिनेता माना जाता था। इन्होंने कई सारी हिट फिल्मों में काम किया था। फेफड़ों के संक्रमण से पीड़ित सदाशिव ने कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में अपना दम तोड़ा था। उस समय वे 64 वर्ष के थे।

 

सुचित्रा सेन :

suchitras-stable

बांग्ला सिनेमा की महानायिका अपने समय की मशहूर अदाकारा सुचित्रा सेन एक बहुत ही जानी-मानी अभिनेत्री थीं। इन्होंने अपने अभिनय के दम पर हिंदी और बांग्ला सिनेमा में अपनी खास पहचान बनाई थी। इन्होंने अपने जमाने में देवदास, बम्बई का बाबू, ममता, आंधी जैसे कुछ हिट हिन्दी फिल्में भी की थी।

 

अशरफ-उल–हक :

ashraful-haque-650_021715091536

बॉलीवुड की कई फिल्मों में अपनी बेमिसाल अदाकारी से गहरी छाप छोड़ने वाले एक्टर अशरफ-उल-हक ने ‘फुकरे’, ‘ट्रैफिक सिग्नल’ और ‘ब्लैक फ्राइडे’ जैसे कई हिट फिल्मों में काम किया था। उनकी 46 साल में  बोन मैरो कैंसर से मौत हुई।

 

अबीर गोस्वामी :

abir-goswami

अबीर जिम में ट्रेडमिल पर वर्कआउट कर रहे थे तभी उन्हें दिल का दौरा पड़ गया जिससे उनकी मौत हो गई थी। खाकी, लक्ष्य जैसी फिल्मों में काम करने वाले अभिनेता अबीर गोस्वामी की गिनती एक अच्छे अभिनेता के रूप में की जाती थी।

Leave a Reply