दिवाली में अस्थमा के मरीजों को रहना होगा सावधान, प्रदूषण से बचने के तरीके है आसान|

278

भारत का सबसे बड़ा त्यौहार दिवाली की सुरुवात हो चुकी है | भारत में दिवाली त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता है, इन दिनों काफी जोरो-शोरो से इस त्यौहार का स्वागत किया जाता है | दिवाली मनाते समय हम सभी को अपने स्वस्थ का ध्यान देना चाहिए | दिवाली के अवसर हम सभी कई कामो में व्यस्त रहते है, इसी कारण हम अपने स्वास्थ पर ध्यान नही दे पाते है | दिवाली के समय सबसे ज्यादा तकलीफ अस्थमा के मरीज को होता है, दिवाली में यह बीमारी बढ़ने की संभावना हो सकती है | दिवाली में साफ-सफाई और पटाखों-फुलझड़ियों के चपेट आ गये तो अस्थमा के मरीजों को उठाने सकती ज्यादा तकलीफें, अगर आप अस्थमा के मरीज है तो हो जाइये सावधान ! आगे दिए कुछ अस्थमा के मरीज के लिए कुछ स्वास्थ जुड़े टिप्स –

1) घर की साफ सफाई से दूर रहें, हो सके तो सफाई के लिए वर्कर्स की सहायता लें। साफ-सफाई में आप धूल कणों के संपर्क में आ सकते हैं, जो आपके लिए हानिकारक है।

asthama-1

2) पटाखों, फुलझड़ियों व अनार जलाने का भले ही आपको शौक हो, लेकिन सेहत का ध्यान रखते हुए इनसे दूरी बनाना बेहद जरूरी है। इनसे निकलने वाला धुंआ आपको प्रभावित कर सकता है।

A man lights firecrackers while celebrating the Hindu festival of Diwali, the annual festival of lights in Mumbai, India, November 11, 2015. REUTERS/Danish Siddiqui - RTS6IJ7

3) ज्यादातर वक्त घर के अंदर ही गुजारें तो बेहतर होगा, क्योंकि बाहर पटाखों का धुंआ पूरे वातावरण में व्याप्त होता है। घर के बाहर अधिक देर तक रहने पर आप इससे अछूते नहीं रहेंगे, और सेहत जोखिम में  रहेगी सो अलग।

asthama-3

4) अपना इन्हेलर व दवाईयां हर वक्त अपने साथ रखें। आपको किसी भी समय इसकर जरूरत पड़ सकती है। ऐसे में जरूरत के समय यह आपके पास होना चाहिए।

asthama-4

5) अपने डॉक्टर से पहले ही सलाह लें और खाने पीने का विशेष ध्यान रखें। अधिक तेल-मसाले वाला खानाखाने से बचें और ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं ताकि शरीर हाइड्रेट रह सके।

asthama-5-1

Leave a Reply