८०० लोगों की छोटीसी दुनिया…

3738

आज हम आपको दुनिया के 10 ऐसे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जो क्षेत्रफल के हिसाब से बहुत छोटे हैं। वेटिकन सिटी जहां दुनिया का सबसे छोटा देश है, वहीं मोनाको, नौरु जैसे देश भी लिस्ट में शामिल हैं।

 

वेटिकन सिटी –

smallest-countries-1

अगर इन देशों की तुलना भारत से की जाए तो यकीन मानिए इनमें से कई देशों का क्षेत्रफल एक छोटे से शहर के एक जिले के बराबर है। वेटिकन सिटी का क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर है। यहां की जनसंख्या 800 है। हालांकि, इस देश में काम करने वाले लोगों की कुल संख्या 1000 है, इनमें काफी संख्या दूसरे देशों से आने वालों की है। यहां पर कई शानदार इमारतें लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचती हैं।

 

 

मोनाको –

smallest-countries-2_1457

यूरोप का मोनाको दुनिया का दूसरा सबसे छोटा देश है। 20 सालों से लगातार समुद्री लहरों के कारण अब इसका क्षेत्रफल महज 2.02 वर्ग किलोमीटर ही रह गया है। यहां की जनसंख्या करीब 37,831 है। यह पर्यटन के दृष्टिकोण से बेहतरीन देश है। हालांकि, सबसे छोटे देशों में शुमार होने के बावजूद मोनाको बेहद उच्च अर्थव्यवस्था वाला देश है।

 

 

नौरु –

smallest-countries-3_1457

नौरु दुनिया का तीसरा सबसे छोटा देश है। नौरु का क्षेत्रफल 21 वर्ग किलोमीटर है।  यहां की कुल जनसंख्या लगभग 10,000 है। इस देश के पास अपनी कोई मिलिट्री नहीं है। महज एक आइलैंड पर सिमटा ये प्रशांत महासागर के बीचो-बीच स्थित है।

 

 

तुवालु –

tuvaluatoll10.ngsversion.1425715575760.adapt.768.1

तुवालु दुनिया का चौथा सबसे छोटा देश है। 26 वर्ग किलोमीटर में फैले तुवालु को 1978 में ब्रिटेन से आजादी मिली थी। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 10,000 है। हवाई और आस्ट्रेलिया के बीच स्थित यह देश तीन आइलैंड से मिलकर बना है।

 

 

सैन मैरिनो –

smallest-countries-5_1457

सैन मैरिनो दुनिया का पांचवा सबसे छोटा देश है।यहां की कुल जनसंख्या लगभग 30,000 है।  61 वर्ग किलोमीटर में फैला सैन मैरिनो की खोज एडी 301 में हुई थी। इटली के बीच बसा सैन मारिनो दुनिया के प्राचीन देशों में से एक है।

 

 

लिक्टनस्टीन –

smallest-countries-6_1457

यूरोप का देश लिक्टनस्टीन स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रिया के बीच स्थित है। यह दुनिया का 6ठा सबसे छोटा देश है। इसका क्षेत्रफल 160 वर्ग किलोमीटर है। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 36,925 है।आपको जानकर हैरत होगी, लेकिन बता दें कि 2009 के आंकड़ों के मुताबिक, ये देश प्रतिव्यक्ति जीडीपी के मामले में दुनिया में नंबर 1 था। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 36,925 है।

 

 

मार्शल आइलैंड –

marshall-islands_7

मध्य सागर में स्थित मार्शल आइलैंड दुनिया का सातवां सबसे छोटा देश है। 181 वर्ग किलोमीटर में फैला यह देश अमेरिका से अलग होकर 1986 में अस्तित्व में आया था। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 52,634 है। लेकिन इसके सुरक्षा की जिम्मेदारी आज भी अमेरिका के पास है, जो उसे धन से लेकर रक्षा और सामाजिक कार्यों में भी सहयोग देता है। अटलांटिक महासागर में स्थित मार्शल आइलैंड्स कुल 1156 द्वीपों का समूह है।

 

 

सेंट किट्स एंड नेविस –

saint-kitts-and-nevi 8

सेंट किट्स एंड नेविस का क्षेत्रफल 261 वर्ग किलोमीटर है। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 54,191 है। पूर्वी कैरेबियन सागर में स्थित इस देश के लोगों के इनकम का प्रमुख जरिया टूरिज्म और खेती है।

 

 

मालदीव –

maldives_9

हिंद महासागर में स्थित मालदीव भी दुनिया के छोटे देशों में शामिल है। क्षेत्रफल के हिसाब से मालदीव दुनिया का नौवा छोटा देश है। इसका कुल क्षेत्रफल 300 वर्ग किलोमीटर है। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 345,023 है। पर्यटन के दृष्टिकोण से मालदीव भी लोगों को खूब आकर्षित करता है।

 

 

माल्टा –

malta_10

माल्टा क्षेत्रफल के हिसाब से 10वां सबसे छोटा देश है। इसका कुल क्षेत्रफल 316 वर्ग किलोमीटर है। यहां की कुल जनसंख्या लगभग 450,000 है। हालांकि, क्षेत्रफल के हिसाब से माल्टा है तो छोटा सा, पर यूरोप में सबसे घनी आबादी वाला देश है।

Leave a Reply