माँ दुर्गाजी के नौ रूप|

1284

पुरे भारत में नवरात्री की सुरुवात बड़ी धूमधाम हुई है, पुरे नौ दिन देवी माँ को श्रद्धा करनेवाले भक्तों की भकित दिल से उमड़ आती है | नवरात्रि एक हिंदू पर्व है, भारत में देवी माँ की पूजा बड़ी श्रद्धा और मन से करते है, भारत में विविध राज्यो में विविध प्रकार से देवी माँ की पूजा की जाती है | नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्योहार है जिसे पूरे भारत में उत्साह के साथ मनाया जाता है। नवरात्रि के नौ रातों में तीन देवियों – महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं।  इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्री में देवी की नौ दिन विविध रूपो से पूजा की जाती है और दसवा दिन विजयदशमी याने ‘दशहरे’  के रूप मनाया जाता है | तो आगे देखेंगे देवी माँ दुर्गा के नौ रूप जो पुरे भारत में भक्त पुरे श्रद्धा से पूजा करते है |

1) शैलपुत्री- देवी दुर्गा के नौ रूप होते हैं। दुर्गाजी पहले स्वरूप में ‘शैलपुत्री’ के नाम से जानी जाती हैं। ये ही नवदुर्गाओं में प्रथम दुर्गा हैं।

1maa-durga

2) ब्रह्मचारिणी – नवरात्र पर्व के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की जाती है।ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी यानी आचरण करने वाली। इस प्रकार ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली।

2-maa-durga

3) चंद्रघंटा – माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन-आराधन किया जाता है।

4-maa-durga

4) कूष्माण्डा – नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कूष्माण्डा देवी के स्वरूप की ही उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन ‘अदाहत’ चक्र में अवस्थित होता है|

4-1-maa-durga

5) स्कंदमाता – नवरात्रि का पाँचवाँ दिन स्कंदमाता की उपासना का दिन होता है। मोक्ष के द्वार खोलने वाली माता परम सुखदायी हैं। माँ अपने भक्तों की समस्त इच्छाओं की पूर्ति करती हैं।

5-maa-durga

6) कात्यायनी – माँ दुर्गा के छठे स्वरूप का नाम कात्यायनी है। उस दिन साधक का मन ‘आज्ञा’ चक्र में स्थित होता है। योगसाधना में इस आज्ञा चक्र का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है।

6-maa-durga

7) कालरात्रि – माँ दुर्गाजी की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। दुर्गापूजा के सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है।

7-maa-durga

8) महागौरी – माँ दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है। दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की उपासना का विधान है। इनकी शक्ति अमोघ और सद्यः फलदायिनी है।

8-maa-durga

9) सिद्धिदात्री – माँ दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है।

9-maa-durga

Leave a Reply