प्रकृति के गर्भ मैं समाई हुई दुनिया

3240

दुनिया मैं कुछ ऐसे भी जगह है, जो प्राचीन काल से अस्तित्व में रहके भी भी प्रकृति की गर्ब मैं समाए हुए है | ऐतिहासिक कई ऐसे शहर या गांव विविधता हमें दिखाई देती है | ऐतिहासिक वास्तु के बारे में हम लोगों को बेहद ही कम ज्ञात है ,ऐसे ही कुछ जगह इस विश्व में छुपी है | हम बात कर रहे विश्व की ऐसे कुछ जगह जो पानी में डूबे है | तो चलिए जानते है डूबे हुए शहर के बारे मैं |

लायन सिटी ऑफ क्यूआनडाओ लेक, चीन (Lion City of Quiandao Lake, China)A Chinese city, forgotten after it was flooded when the government built a dam that turned the valley it was in into a lake, has resurfaced as an underwater adventure park for tourists. The ancient city of Shi Cheng was also known as the Lion City because it was located in the province of Zhejiang, where it was surrounded by the five Lion Mountains. Founded over 1,300 years ago, it vanished from view 53 years ago when the Chinese government decided they needed a new hydroelectric power station. A dam was built to create a man-made lake, and as the water rose, the city was left at the bottom of this new found body of water. Depending on where on the lake bottom it is, the city is between 85 and 131 feet underwater. And there it remained forgotten until Qiu Feng, a local official in charge of tourism, introduced the idea of using Shi Cheng as a destination for diving clubs. For the first try it was a voyage of discovery, and Qui said: "We were lucky. As soon as we dived into the lake, we found the outside wall of the town and even picked up a brick to prove it." It was later discovered that the entire town was intact, including wooden beams and stairs. Now the city had attracted interest from archaeologists and a film crew has been on site to record the preservation of the lost ruins.

पानी के अंदर बसे दुनिया के प्राचीन और शानदार शहरों में से एक चीन का लायन सिटी ऑफ क्यूआनडाओ लेक है | यह शहर लगभग 1400 साल पुराना है. पूर्वी हान राजवंश के दौरान इस शहर को बनाया गया था, जिसका क्षेत्रफल 62 फुटबॉल ग्राउंड के बराबर है|यह लगभग 85 से 131 फीट सतह के नीचे स्थित है. इस शहर को जलमग्न हुए अभी 60 साल भी नही हुए हैं. 1959 में जब चीनी सरकार ने Xin’an नदी पर हाइड्रो-इलेक्ट्रिक बाँध बनाया था तब इस शहर में पानी भर गया जिससे इस शहर में पानी भर गया|

पाव्लोपेट्री, ग्रीक (Pavlopetri, Greece)2 Pavlopetri, Greece

इस समुदाय का वास्तविक नाम कोई नही जानता. क्योंकि इस शहर को जलमग्न हुए 5000 साल हो चुके हैं. यहाँ प्रवेश करने के लिए इसे Pavlopetri और Peter and Paul’s stone जैसे आधुनिक नाम दिए गये हैं.  ग्रीक के इस शहर को पानी के अंदर अति प्राचीन पुरातात्विक साइट में शुमार किया जाता है. ये शहर लगभग 1000 ईसा पूर्व भूकंप के कारण पानी के अंदर समा गया था. इसके खंडहरों को देखकर पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि ये मानव निर्मित है. हालांकि, इस शहर की सड़कों, वास्तुकला और कब्रों सहित पूरे शहर को योजनागत तरीके से बनाया गया था.

क्लियोपेट्रा, अलेक्जेंड्रिया, इजिप्त (Cleopatra’s Alexandria, Egypt)3 Cleopatra’s Alexandria, Egypt

क्लियोपेट्रा शहर को 1998 में समुद्री पुरातत्वविदों ने खोज निकाला था. इस शहर का निर्माण इजिप्त के शासक रहे ‘अलेक्जेंडर द ग्रेट’ ने किया था | ऐसा कहा जाता है कि चर्चित सुंदरी व सम्राज्ञी ‘क्लियोपेट्रा’ की याद में ‘अलेक्जेंडर द ग्रेट’इस शहर को बनाया गया था. 1600 साल पहले ये शहर जलमग्न हो गया था |

पोर्ट रॉयल, जमैका (Port Royal, Jamaica)4 Port Royal, Jamaica

जमैका का पोर्ट रॉयल शहर कभी समुद्री डाकुओं का अड्डा हुआ करता था. आज भले ही यह जलमग्न हो गया है | लेकिन कभी यह यूरोप के बड़े शहरों में शुमार होता था. यहां की शराब और  साथ ही यहां वेश्याएं लोगों का मनोरंजन करने के लिए प्रसिद्ध थी | जून 1962 में ये शहर भूकम्प के कारण जलमग्न हो गया, जिसमें 2000 लोगों की मौत हो गई थी |आधुनिक पुरातत्वविदों ने इस शहर का अधिकांश हिस्सा खोज लिया है, जिनमें प्रमुख समुंद्री डाकुओं के सराय, नावें व जहाज आज भी सुरक्षित हैं|

द्वारका, भारत (Dwarka, India)5 Dwarka, India

द्वारका की तरह ही जापान का  yonaguni आइलैंड भी विवादित है. कोई इसे मानव निर्मित कहता है तो प्रकृति द्वारा निर्मित बताता है. 1986 में गोताखोरों ने इसे पिरामिड बताया तो कुछ समय पश्चात् वैज्ञानिकों ने इसे rock formation कहा. एक भूकम्प वैज्ञानिक का कहना है, कि यह 2000 से 3000 साल पहले बनाया गया था | ये 10000 ई.पू. समुद्र में जलमग्न हो गया था. वर्तमान में यह 250 फीट गहरे पानी में है|

Leave a Reply