भारत का स्कॉटलैंड शहर शिलांग|

3994

Shillong images (29)शिलांग भारत के राज्य मेघालय की राजधानी है। भारत के पूर्वोत्तर में बसा यह शहर हमेशा से ही पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बना है। इस शहर को भारत के पूरब का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है। लगभग 1695 मीटर की ऊंचाई पर बसे इस शहर में मौसम हमेशा सुहावना रहता है। मानसून के दौरान जब यहां बारिश होती है, तो पूरे शहर की खूबसूरती और निखर जाती है और शिलांग के चारों तरफ के झरने जीवित हो जाते है।

Shillong images (22)

शिलांग पीक – यह शिलांग का सबसे ऊंचा पॉइंट है। इसकी ऊंचाई लगभग 1965 मीटर है। यहां से पूरे शहर का खूबसूरत नजारा दिखाई देता है। रात के समय यहां से पूरे शहर की लाईट असंख्य तारों जैसी चमकती है।

Shillong images (33)लेडी हैदरी पार्क – यह लगभग हर प्रकार के फूलों से सुसज्‍जित खूबसूरत पार्क है। इस पार्क मे एक छोटा चिड़ियाघर और अनेक प्रजातियों की तितलियों का संग्रहालय भी है।

Shillong images (19)कैलांग रॉक – मेरंग-नोखलॉ रोड पर ग्रेनाइट की एक ऊंची और विशाल चट्टान है जिसे कैलांग रॉक के नाम से जाना जाता है। यह एक गोलाकार गुम्बदनुमा चट्टान है जिसका व्यास लगभग 1000 फुट है।

Shillong images (34)वार्डस झील – यह कृत्रिम झील है जो घने जंगलों से घिरी हुई है।

Shillong images (6)

मीठा झरना – हैप्पी वैली में बना यह झरना बहुत ऊंचा और बिलकुल सीधा है। मॉनसून में इस झरने की खूबसूरती देखते लायक होती है।

Shillong images (26)

हाथी झरना – यह झरना ऊपरी शिलांग में है| यहां कई छोटे- छोटे झरने एक साथ गिरते हैं। यहां एक छोटे से रास्ते के सहारे झरने के नीचे भी जा सकता है, जहां एक छोटी सी झील भी बनी हुई है।

Shillong images (28)

चेरापूंजी – चेरापूंजी शिलांग से 60 किलोमीटर की दूरी पर है। यह स्थान दुनियाभर में सर्वाधिक बारिश के लिए मशहूर है| चेरापूंजी के नजदीक नोहकालीकाई झरना है, जिसे पर्यटक जरूर देखने जाते हैं। चेरापूंजी में कई गुफा भी हैं, जिनमें से कुछ गुफा कई किलोमीटर लम्बी हैं| कुछ दिन पहले चेरापूंजी का नाम बदलकर सोहरा रखा गया है।

Shillong images (21)

एलिफेण्ट प्रपात – एलिफण्ट फॉल्स बहुत ही बडा झरना है जिसकी आवाज बहुत दूर तक सुनाई देती है। पहाड़ी से बहुत नीचे उतरकर यह मनोरम दृश्य देखा जा सकता है। फोटोग्राफी के लिये यह सर्वश्रेष्ठ झरना है|

Shillong images (17)

जैकरम, हाट सप्रिंग – यह स्थान प्रकृति की अद्भुत देन है इस झरने से गंधक-युक्त गर्म पानी निकलता है वो चर्मरोंगो के लिये औषधि माना जाता है। इस झरने का पानी पाईप लाईन से स्नान घर तक पहुंचाया गया है| इस पानी से स्नान करने से पूरी थकान दूर हो जाती है।

Shillong images (8)

मौसिनराम – यह मनोरम पहाडियों के बीच बनी एक प्राकृतिक गुफा है। गुफा के मध्य बिल्कुल गौ थन के आकार की शिला से लगातार नीचे बने प्राकृतिक शिवलिंग पर बूंद बूंद पानी गिरता है| जैसे की भगवान शिव का जलाभिषेक हो रहा है। हिंदु धर्म के अनुसार यह स्थल एक शक्ति पीठ बनने का सामर्थ्य रखता है।

Shillong images (35)महादेवखोला मंदिर – यह प्राचीन मंदिर सुरंगमय पहाडियों के बिच गोरखा रेजीमेंट द्वारा बनाया गया है| इस मंदिर से भगवान शंकर की जुड़ी अनेक दंत कथाएं भी है। शिवरात्रि के दिन यहां बड़ा मेला लगता है।

Shillong images (12)

फेमस फ़ूड – चावल ,गोभी, चिकन,सूखी मछली,चावल से बना काढ़ा,जलेबी,चिकन मोमोज यह शिलांग का फेमस फ़ूड है| शिलांग में होटल सेंटर पॉइंट,पाइनवुड होटल,होटल, पोलो टावर्स, होटल असेंबली और होटल पॉयनीसुक यह फेमस होटल है

Shillong images (16)

रेल मार्ग – मेघालय में रेल लाइनें नहीं है। गुवाहाटी यहां का नजदीकी रेल्वे स्टेशन है, जो शिलांग से 104 किलोमीटर दुरी पर है। दिल्ली से गुवाहाटी पहुंचने के लिए राजधानी समेत कई रेलगाड़ियां भी हैं। गुवाहाटी से असम परिवहन निगम और मेघालय परिवहन निगम की बसें शिलांग से हर आधे घन्टे में चलती हैं। यहाँ टैक्सी भी उपलब्ध हैं।

वायु मार्ग – शिलांग से 40 किलोमीटर की दूरी पर उमरोई में शिलांग हवाई अड्डा है। कोलकाता और गुवाहाटी से यहां के लिए सीधी उड़ानें भी है। दिल्ली से कोलकाता और गुवाहाटी के लिए सीधी उड़ानें है। यहां जाने के लिए हवाई जहाज उत्तम माध्यम है।

Leave a Reply